देशप्रत्यंचा

कोरोना संक्रमण के चलते नौकरी गंवाने वाले कर्मचारियों को ESIC की राहत देने वाली योजना

देश में कोरोना संक्रमण के चलते लाखों लोगों को अपने रोजगार से हाथ धोना पड़ा। इस विपरित परिस्थिति में ना जाने कितने ही लोगों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है ,जिस कारण से उनमें से बहुत से लोगों के सामने जीवन-यापन करने की भयावह स्थिति बन गई । लेकिन देश की सरकार व अन्य माध्यमों ने इस संकट से उबरने के लिए नये रास्ते निकल कर लोगों को राहत देने की कोशिश की है । इसी क्रम में देश में कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) ने गुरुवार को एक बहुत महत्वपूर्ण फैसले की घोषणा की। कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने इस साल 24 मार्च से 31 दिसंबर, 2020 के बीच नौकरी से हाथ धोने वाले कर्मचारियों को राहत देते हुए ऐलान किया कि तीन माह तक 50 फीसद औसत वेतन देने के लिए नियमों में छूट देने का फैसला किया है। इस निर्णय से ऐसे लोगों को काफी राहत मिली है, जिनकी नौकरी कोरोना संक्रमण की वजह से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण से नौकरी चली गई है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) बोर्ड के इस फैसले से देश के औद्योगिक क्षेत्र में काम करने वाले तकरीबन 40 लाख कर्मचारियों को फायदा होने की संभावना है ।

कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने अपने बयान को जारी कर कहा है कि संगठन ने अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के अंतर्गत अहर्ता शर्तों और बेरोजगारी से जुड़े लाभ में बढ़ोत्तरी को लेकर नियमों में छूट देने का फैसला किया है।

संगठन कर्मचारी राज्य बीमा निगम योजना के अंतर्गत कवर कर्मचारियों को बेरोजगारी से जुड़े लाभ देने के लिए अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना का क्रियान्वयन करती है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि संगठन ने इस योजना को एक और साल यानी 30 जून, 2021 तक के लिए बढ़ाने का भी फैसला किया है। संगठन ने कहा है कि कोरोना संक्रमण महामारी की वजह से रोजगार गंवाने वाले अनेकों कर्मचारियों के लिए पूर्व निर्धारित शर्तों में ढील दी गई है एवं राहत से जुड़ी राशि में बढ़ोत्तरी की गई है। नई शर्तों के अनुसार बढ़ी हुई राशि का भुगतान 24 मार्च, 2020 से 31 दिसंबर, 2020 के बीच किया जाएगा। कर्मचारी राज्य बीमा निगम के मुताबिक 31 दिसंबर, 2020 के बाद एक जनवरी, 2020 से 30 जून, 2020 के बीच वास्तविक पात्रता शर्तों के साथ इस योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा। उसने कहा है कि नियमों में छूट की समीक्षा 31 दिसंबर के बाद मांग और जरूरत के आधार पर की जाएगी। कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने कहा है कि पहले नौकरी जाने के 90 दिन बाद राहत राशि का भुगतान किया जा सकता था, अब इस समयसीमा को घटाकर 30 दिन कर दिया गया है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम की इस योजना के अंतर्गत कोई भी जिसकी नौकरी कोरोना संक्रमण के चलते चली गई हो तो ऐसे
कर्मचारी सीधे संगठन के ब्रांच ऑफिस में दावा डाल सकते हैं। नई शर्तों के मुताबिक कर्मचारी के दावे को पुराने नियोक्ता तक भेजने की बजाय राहत राशि का भुगतान सीधे बीमित व्यक्ति के बैंक खाते में किया जाएगा।

pratyancha web desk

प्रत्यंचा दैनिक सांध्यकालीन समाचार पत्र हैं इसका प्रकाशन जबलपुर मध्य प्रदेश से होता हैं. समाचार पत्र 6 वर्षो से प्रकाशित हो रहा हैं , इसके कार्यकारी संपादक अमित द्विवेदी हैं .

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
%d bloggers like this: