गरोठप्रत्यंचामध्य प्रदेश

एक धर एक पोधा अभियान का शुभारंभ आज संस्था महाकाल मंडली द्वारा ऑक्सीजन की पूर्ति के लिए पीपल और नीम के 1100 पौधे लगाए जाएंगे

चंदन गौड़

गरोठ वैश्विक महामारी कोरोना संक्रामण से चारों तरफ अफरा तफरी भय का माहौल है,, प्रदेश जिला नगर ग्रामीण क्षेत्र कोरोना केसंक्रमण से अछुते नहीं रहे हैं
घर-घर में सर्दी खांसी जुकाम बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है हॉस्पिटलों में जगह नहीं है इस वर्ष कोरोना की महामारी ऐसा तांडव मचाया की ऑक्सीजन की कमी के चलते कई लोग स्वर्ग सिधार चुके शासन प्रशासन स्वास्थ्य विभाग इसको रोकने के लिए अंकुश लगाने के लिए कोई कोर कसर बाकी नहीं रख रहे हैं सामाजिक संस्थाएं भी बढ़-चढ़कर इस आपदा की घड़ी में दान से लेकर योगदान देने तक मैं पीछे नहीं है नगर क्षेत्र के दानदाताओं ने दान देकर और किसी ने अपने माता-पिता परिजनों की स्मृति में ऑक्सीजन जनरेशन मशीनें दान कर मरीजों को प्राणवायु देने का कार्य किया है ,, देखा जाए तो अचानक लोगों के शरीर में ऑक्सीजन की कमी होना चिंतन का विषय है कई बुद्धिजीवी नागरिकों का मानना है कि हरे भरे वृक्षों की अंधाधुंध कटाई से नागरिकों को भरपूर ऑक्सीजन नहीं मिल रही है यही कारण ऑक्सीजन की कमी का हो सकता है? ??

संस्था महाकाल मंडली ने लिया ऐतिहासिक निर्णय

नगर की सामाजिक धार्मिक संस्था महाकाल संस्था मंडली ने पर्यावरण ऑक्सीजन की भविष्य में कमी ना हो आम लोगों को भरपूर ऑक्सीजन मिले इस हेतु निर्णय इस संस्था द्वारा लिया गया 14 मई शुक्रवार को भानपुरा रोड स्थित श्री राज राजेश्वर शिवालय पर संस्था के सदस्यों द्वारा 11 00 सो पोधे पीपल और नीम के लगाने का ओर “एक घर एक पौधा” का संकल्प लिया जाएगा !
संस्था के प्रमुख चीनू गुजराती ने बताया कि ब्रह्मचारी जी के मंदिर पर एक नीम का पौधा तथा एक पीपल का पौधा लगाकर संकल्प का शुभारंभ किया जाएगा
शेष पौधों की नर्सरी बनाई जाएगी तथा जून माह में जैसे ही बारिश होगी नगर में जगह-जगह पीपल और नीम के पौधे लगाए जाएंगे साथ ही एक घर एक पौधा के लिये सभी नगरवासियों से निवेदन कर रहे है कि सभी एक वृक्ष तो अवश्य लगावे,,,पीपल एक ऐसा वृक्ष है जिसमें देवी देवताओं का वास माना जाता है तथा यह पौधा 24 घंटे 100% ऑक्सीजन देता है नीम आयुर्वेदिक दृष्टि से कई रोगों को ठीक करता है साथ ही यह पौधा 80% ऑक्सीजन प्रदान करता, वर्तमान में जहां पर पर्याप्त पानी की व्यवस्था है उसी स्थान पर पौधे लगाए जाएंगे शेष पौधे बारिश के होने के बाद स लगाए जाएंगे!

pratyancha web desk

प्रत्यंचा दैनिक सांध्यकालीन समाचार पत्र हैं इसका प्रकाशन जबलपुर मध्य प्रदेश से होता हैं. समाचार पत्र 6 वर्षो से प्रकाशित हो रहा हैं , इसके कार्यकारी संपादक अमित द्विवेदी हैं .

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
%d bloggers like this: