धर्म

कांवड़ यात्रा के दौरान शिवभक्तों को मिले समुचित व्यवस्था – मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

अनुभव अवस्थी

भगवान शिव का प्रिय मास श्रावण मास जब सभी शिवालयों और देवालयों में शिवभक्तों के द्वारा भगवान शिव का जलाभिषेक कर बोल बम – बोल बम के जयकारों से उद्घोष गूंजता है। सभी शिवभक्त भगवान शिव की आराधना और पूजा पाठ करते हैं। हिंदू धर्म में श्रावण मास का अत्यधिक महत्व है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महाराज ने प्रदेश के सभी मंडलायुक्तों तथा पुलिस को श्रावण मास के दृष्टिगत शिवालयों और शिव मंदिरों में भी प्रकाश सहित उत्कृष्ट व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं के आदेश दिए हैं। जिससे कांवड़ यात्री मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक कर सकें। इसके अतिरिक्त विद्युत आपूर्ति और पेयजल सहित यात्रियों के लिए जन-सुविधाओं की भी उपलब्धता रहे। जोन के अधिकारियों को जनपद तथा रेंज स्तर पर श्रावण मास के दृष्टिगत तैयारियों व सतर्कता के सम्बन्ध में बैठकें करने के निर्देश दिए हैं। श्रावण मास 25 जुलाई, 2021 से प्रारम्भ हो रहा है। इसके दृष्टिगत प्रदेश के विभिन्न जनपदों व मार्गों पर श्रद्धालुगण द्वारा निकाली जाने वाली कांवड़ यात्राओं के सम्बन्ध में सभी तैयारियां समय से सुनिश्चित कर ली जाएं। श्रावण मास के दृष्टिगत शिवालयों और शिव मंदिरों में भी प्रकाश सहित उत्कृष्ट व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं, जिससे कांवड़ यात्री मंदिर पहुंचकर जलाभिषेक कर सकें। विद्युत आपूर्ति और पेयजल सहित यात्रियों के लिए जन-सुविधाओं की भी उपलब्धता रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कांवड़ यात्राओं में कोविड प्रोटोकॉल का पूर्ण पालन सुनिश्चित हो। कांवड़ यात्राओं के सुरक्षित, सकुशल एवं सफल संचालन के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की कोताही न हो। श्रावण मास के प्रारम्भ होने पर शिवभक्तों की यात्रा के दौरान समुचित व्यवस्था की जाए। इसके दृष्टिगत सतर्कता और सावधानी आवश्यक है। कोविड प्रोटोकॉल के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर कांवड़ संघों से संवाद स्थापित किया जाए। अनावश्यक भीड़ न एकत्र हो। कोविड के दृष्टिगत कोविड हेल्प डेस्क, कोविड केयर सेंटर, एम्बुलेंस सेवा, हॉस्पिटल में आरक्षित बेड आदि उपलब्ध रहें। इन्फ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, सैनिटाइजर की भी व्यवस्थाएं कांवड़ यात्रियों व यात्राओं के सम्बन्ध में की जाएं।

श्रावण मास के दृष्टिगत सभी शिव मंदिरों, शिवालयों, देव मंदिरों, यात्रा मार्गों सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। यात्रा मार्गों पर स्ट्रीट लाइट सुनिश्चित की जाएं। इन मार्गों पर बिजली के तार झूलते हुए न मिलें। श्रावण मास के दृष्टिगत यातायात व्यवस्था को बेहतर तरीके से मैनेज किया जाए। संवेदनशील स्थलों के सम्बन्ध में पूर्व तैयारी सुनिश्चित करते हुए चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था रखी जाए। श्रावण मास के दृष्टिगत शिवालयों, कावंड़ यात्रियों के लंगर स्थलों, विश्रामालयों आदि स्थलों पर भी विशेष सतर्कता रखी जाए।

Tags

pratyancha web desk

प्रत्यंचा दैनिक सांध्यकालीन समाचार पत्र हैं इसका प्रकाशन जबलपुर मध्य प्रदेश से होता हैं. समाचार पत्र 6 वर्षो से प्रकाशित हो रहा हैं , इसके कार्यकारी संपादक अमित द्विवेदी हैं .

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: